Mata Vaishno Devi's parshad while siting at home

श्रद्धालुओं के लिए बड़ी खबर, सीमित संख्‍या के साथ फिर शुरू होगी वैष्णो देवी यात्रा

जम्मू. वैश्विक महामारी के मद्देनजर करीब 5 महीने तक निलंबित रहने के बाद रविवार को फिर से वैष्णो देवी यात्रा शुरू होने जा रही है। यात्रा 18 मार्च को निलंबित की गई थी। श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (SMBSB) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमेश कुमार ने बताया कि यात्रा कल यानी रविवार से फिर शुरू होगी। उन्होंने बताया कि पहले सप्ताह में हर रोज अधिकतम 2000 तीर्थयात्रियों की सीमा तय की गई है, जिनमें से 1900 यात्री जम्मू-कश्मीर और शेष 100 यात्री बाहर के होंगे।

करवाना होगा ऑनलाइन पंजीयन

कुमार ने बताया कि इसके बाद हालात की समीक्षा की जाएगी और उसी के अनुसार फैसले किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि यात्रा पंजीकरण खिड़की पर भीड़ एकत्रित होने से रोकने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण के बाद ही लोगों को यात्रा की अनुमति दी जाएगी। कुमार ने बताया कि यात्रियों के लिए अपने मोबाइल फोन में ‘आरोग्य सेतु ऐप’ डाउनलोड करना अनिवार्य होगा। चेहरे पर मास्क और कवर अनिवार्य होगा। यात्रा के प्रवेश बिंदुओं पर यात्रियों की थर्मल जांच की जाएगी।

उन्होंने बताया कि 10 साल से कम आयु के बच्चों, गर्भवती महिलाओं, अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों और 60 साल से अधिक आयु के लोगों के लिए यात्रा नहीं करने का परामर्श जारी किया गया है। हालात सामान्य होने के बाद इस परामर्श की समीक्षा की जाएगी।कुमार ने बताया कि कटरा से भवन जाने के लिए बाणगंगा, अर्धकुंवारी और सांझीछत के पारम्परिक मार्गों का इस्तेमाल किया जाएगा और भवन से आने के लिए हिमकोटि मार्ग-ताराकोट मार्ग का इस्तेमाल किया जाएगा।

श्रद्धालुओं की होगी जांच

जम्मू-कश्मीर के बाहर के यात्रियों और केंद्र शासित प्रदेश के रेड जोन वाले जिलों से आने वाले यात्रियों के कोविड-19 से संक्रमित नहीं होने संबंधी रिपोर्ट की हेलीपैड और दर्शनी ड्योढ़ी पर यात्रा प्रवेश बिंदुओं पर जांच की जाएगी।कुमार ने बताया कि जिन यात्रियों के पास कोविड-19 से संक्रमित नहीं होने संबंधी रिपोर्ट होगी, उन्हें ही भवन की ओर जाने दिया जाएगा। पिट्ठुओं, पालकियों और खच्चरों को शुरुआत में मार्ग पर चलने पर अनुमति नहीं होगी।
उन्होंने बताया कि यात्रियों की सुविधा के लिए बैटरी चालित वाहनों, रोपवे और हेलीकॉप्टर सेवाओं जैसी सभी पूरक सुविधाओं की व्यवस्था की गई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *